Water supply system must start in Mango before onset of summer:Governor

Top Stories

Governor Syed Ahmad today directed the drinking water department to ensure that the work related with the water supply system in Mango area of Jamshedpur starts working before the onset of summer.

A press release issued by the public relations department said as follows:

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा कि लोगों को स्वच्छ पेयजल सुलभ हो, इस दिषा में सम्बद्ध विभाग पूर्ण प्रतिबद्धता के साथ कार्य करें। जो भी व्यकित इस कार्य में लापरवाही अथवा षिथिलता बरतें, उनपर कार्रवार्इ करें। उन्होंने कहा कि अक्सर समाचारपत्रों एवं जनता के आवेदनों में पानी से जुड़ी समस्याओं का उल्लेख रहता है। अत: पदाधिकारीगण निरन्तर अनुश्रवण करें कि लोगों को पानी मिल रहा है या नहीं। महामहिम राज्यपाल आज प्रोजेक्ट भवन सिथत अपने कार्यालय कक्ष में पेयजलापूर्ति के संदर्भ में एक समीक्षा बैठक कर रहे थे। बैठक में उन्होंने शहरी जलापूर्ति, ग्रामीण पाइप एवं हैण्डपम्प के माध्यम से जलापूर्ति योजनाओं की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग श्री सुधीर प्रसाद, महामहिम राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री एन.एन. सिन्हा, नगर विकास सचिव श्री नितिन मदन कुलकर्णी आदि उपसिथत थे।

महामहिम ने राँची जलापूर्ति योजना की धीमी प्रगति पर रोष व्यक्त करते हुए अभियंता प्रमुख से कारणपृच्छा की है एवं संवेदक के विरूद्ध कार्रवार्इ करने का निदेष दिया है। बैठक में उन्होंने मानगो जलापूर्ति योजना 30 अप्रैल तक पूर्ण करने का निदेष दिया हैै तथा कहा है कि वे मर्इ प्रथम सप्ताह में इसकी समीक्षा करेंगे। बैठक में महामहिम ने देवघर एवं चक्रधरपुर में स्त्रोत की क्षमता बिना आकलित किये हुए तकनीकी स्वीकृति देनेवाले पदाधिकारियों पर 15 दिन के अन्दर कार्रवार्इ करने का निदेष दिया है।

महामहिम राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा है कि योजना बनाते समय शहर के मास्टर प्लान एवं 15-20 साल बाद शहर की आबादी क्या होगी, इसे ध्यान में रखें और कार्य करें। उन्होंने परियोजनाओं के सतत अनुश्रवण हेतु एक कमिटी का भी गठन किया। इस कमिटी में अपर मुख्य सचिव, सचिव, नगर विकास विभाग एवं प्रधान सचिव, राजस्व होंगे। बैठक में महामहिम ने कहा कि पानी के अवैध कनेक्षन हैं, तो इसके लिए कौन जिम्मेवार हैं? उन्होंने गलत व अवैध कनेक्षन के लिए पदाधिकारी को जिम्मेवार बनाने हेतु कहा।

महामहिम राज्यपाल ने पानी टंकी के निरंतर सफार्इ करने हेतु कहा तथा इसका निरीक्षण करने हेतु भी कहा कि सफार्इ कार्य हो रहा है या नहीं? उन्होंने कहा कि पानी के सैम्पल निर्धारित आवृŸाि पर लिये जायें तथा इसे वेबसाइट पर भी डालें। बैठक में उन्होंने कहा कि जलापूर्ति की गुणवŸाा पर भी वे अलग से बैठक करेंगे।
महामहिम ने खराब हैण्डपम्प की मरम्मति युद्धस्तर पर करने का निदेष दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रामीण हैण्डपम्प की सिथति के कारणों की नियमित समीक्षा की जाय। राज्यपाल महोदय ने हैण्डपम्प अधिष्ठापन के साथ ही चबूतरे का निर्माण करने का निदेष दिया तथा कहा कि इसके निर्माण के बाद ही भुगतान की जाय। बैठक में महामहिम ने निदेष दिया कि हैण्डपम्प द्वारा गर्मी के महीनों में न्यूनतम निर्धारित जलापूर्ति देने पर ही भुगतान की कार्रवार्इ की जाय। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आपकी सरकार डाट काम पर दायर षिकायतों के शत प्रतिषत निवारण का निदेष दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *