Day keeps Governor Ahmad busy

Press Release

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने निगरानी थाना काण्ड संख्या-242012, दिनांक 11.10.12 के प्राथमिकी अभियुक्त श्रीमती विनिता कुमारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, कोडरमा (सम्प्रति निलमिबत) के विरूद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा-713(27) सह पठित धारा-13(1) (डी) के उपबंधों के अधीन अभियोजन प्रारम्भ करने का आदेष दिया। विदित हो कि श्रीमती विनिता कुमारी निगरानी व्यूरो के धावादल द्वारा दिनांक 12.10.2012 को 5000 रू0 रिष्वत लेते हुए पकड़ी गयी थी।
————————————————————————-
महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने श्री विरेन्द्र कुमार, तदेन कार्यपालक अभियंता, पथ प्रमंडल हजारीबाग, सम्प्रति अधिक्षण अभियंता (अनुश्रवण), मुख्य अभियंता, (यातायात) कार्यालय, पथ निर्मान विभाग, राँची को अपने पदस्थापन काल में बरती गयी अनियमितता के कारण उन्हें निन्दन की सजा तथा असंचयात्मक प्रभाव से तीन वार्षिक वेतन वृद्धि पर रोक लगाने का आदेष दिया है। श्री विरेन्द्र कुमार पर आरोप है कि इन्होंने संवेदक, मेसर्स क्लासिक कोल कन्स्ट्रक्षन (प्रा0) लि0 द्वारा समर्पित जाली बिटुमिन इनवायसेज के आधार पर अवैध भुगतान किया है।
————————————————————————-
महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने घाटषिला थाना काण्ड संख्या- 882008, दिनांक 09.08.2008 के प्राथमिकी अभियुक्त जमुना सिंह उर्फ जयन्ती उर्फ र्इला सिंह के विरूद्ध अनलाफुल एक्टीविटिज (प्रिवेंषन) एक्ट की धारा 18, 23, 38 एवं 39 के उपबंधों के अधीन दण्डनीय अपराध हेतु अभियोजन की स्वीÑति प्रदान की है। अभियुक्त पर आरोप है कि ये प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन भा.क.पा. (माओवादी) के सक्रिय सदस्य हैं। इन्होंने अन्य सह अभियुक्तों के सहयोग से पुलिस बल पर जानलेवा हमला की।
————————————————————————-
महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने जरार्इकेला थाना काण्ड संख्या- 0611, दिनांक 11.08.2011 के अभियुक्तों जानसन दा उर्फ चन्द्र गंझू उर्फ दीपक गंझू तथा हाविल चेरवा के विरूद्ध अनलाफुल एक्टीविटिज (प्रिवेंषन) एक्ट की धारा 16, 17, 18(ए), 18 (बी), एवं 20 के उपबंधों के अधीन दण्डनीय अपराध हेतु अभियोजन की स्वीÑति प्रदान की है। इन अभियुक्तगण पर आरोप है कि ये प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन के सक्रिय सदस्य हैं।
————————————————————————-
महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने सेन्हा थाना काण्ड संख्या-502011, दिनांक 03.05.2011 के अभियुक्तों प्रभात मोची उर्फ नानो मोची, दिनेष यादव उर्फ उमेष यादव, छोटे खेरवार उर्फ छोटू सिंह, संजय जी उर्फ प्रताप गंझू, अरविन्द कुमार उर्फ देव कुमार सिंह, संदीप यादव उर्फ विजय उर्फ रूपेष यादव के विरूद्ध अनलाफुल एक्टीविटिज (प्रिवेंषन) एक्ट की धारा 16, 18 एवं 20 के उपबंधों के अधीन दण्डनीय अपराध हेतु अभियोजन की स्वीÑति प्रदान की है। इनके द्वारा बारूदी सुरंग विस्फोट, एवं घातक हथियारों से लैस होकर पुलिस बल पर जानलेवा हमला किया गया, जिसके कारण ग्यारह पुलिस कर्मियों की मौत हो गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *