Three VBU officials dismissed

Top Stories
Pic:Vinoba Bhave Univeristy,Hazaribagh,Jharkhand

The appointment letter of three officials of Vinoba Bhave University -Finance officer Ajay Kumar Ram,Inspector Navin Prasad and Assistant Registrar-were held as null and void by Governor Syed Ahmad.

A press release issued by public relations department in Hindi said as follows:

माननीय राज्यपाल-सह-कुलाधिपति डा0 सैयद अहमद ने झारखण्ड विष्वविधालय अधिनियम, 2000 की धारा 9 (4) में प्रदŸा शकितयों का उपभोग करते हुए विनोबा भावे विष्वविधालय के विŸा पदाधिकारी श्री अजय कुमार राम, महाविधालय निरीक्षक (कला एवं वाणिज्य) डा0 नवीन प्रसाद एवं सहायक कुलसचिव श्री अनिल कुमार उराँव की नियुकित को रद्ध कर दिया है।

विदित हो कि वर्ष 2010 में झारखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा उपरोक्त तीनों पदों पर नियुकित हेतु विज्ञापन में जो अहर्ताएँ उल्लेखित थी, वे इनमें विधमान नहीं पार्इ गर्इ। झारखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा चयन के साथ विष्वविधालय को यह निदेष दे दिया गया था कि इनकी अहर्तायें संबंधी सभी दस्तावेजोंकागजातों की विधिवत जाँच विष्वविधालय अपने स्तर पर करके नियुक्त करें। वि0वि0 द्वारा इनके दस्तावेज की जाँच हेतु 5 सदस्यीय समिति का गठन किया गया था। कमिटी ने जाँचोंपरान्त पाया कि उपरोक्त तीनों व्यकित पद की अर्हता पूरी नहीं करते हैं। इसके बावजूद विष्वविधालय द्वारा इन्हें नियुक्त कर लिया गया।

कुलपति से कारणपृच्छा कि क्यों न उन्हें पद से हट दिया जाय।

ज्ञात हो कि इन तीन व्यकितयों में से दो व्यकितयों विŸा पदाधिकारी श्री अजय कुमार राम एवं महाविधालय निरीक्षक (कला एवं वाणिज्य) डा0 नवीन प्रसाद की नियुकित वर्Ÿामान कुलपति के कार्यकाल में हुर्इ। इस हेतु राज्यपाल महोदय ने विनोबा भावे विष्वविधालय के कुलपति से कारणपृच्छा की है कि उन्होंने अपने दायित्वों व विष्वविधालय हित में कार्य नहीं किया है, अत: इस कारण उन्हें क्यों नहीं पद से हटा दिया जाय, इसका जवाब वे एक सप्ताह के अन्दर दें।

राज्यपाल महोदय ने तत्कालीन कुलसचिव श्री इ.एन. सिधकी से भी इस संबंध में कारणपृच्छा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.