Nagri gets water harvesting training centre

Top Stories

“My government is trying to give momentum to the process of governance”

Governor Syed Ahmad said this today while inaugurating the State Agriculture Department’s officers’ hostel cum water harvesting training centre in Nagri,near Ranchi.

A press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

राज्य में विकास को गति देने की दिशा में हमारी सरकार द्वारा पूरी कोशिश की जा रही है। इस कड़ी में खेतीपैदावार व किसानों के हित को देखते हुए कृषि एवं गन्ना विकास विभाग द्वारा अनूठी पहल करते हुए इस प्रषिक्षण केन्द्र में कृषक छात्रावास और सब्जी बीज प्रसंस्करण इकार्इ का निर्माण किया गया है।
आप सभी जानते हैं कि हमारे राज्य को कुदरत ने खूब नेमतें बख्शी है, देश की 40 फीसदी से अधिक खनिज सम्पदा सूबे में मौजूद हैं, लेकिन हमारा झारखण्ड राज्य मूलत: कृषि प्रधान सूबा है। राज्य की लगभग 70 प्रतिषत आबादी की आजीविका खेती-बारी से जुड़ी हुर्इ है। अत: किसानों के विकास से जुड़े हर पहलू की ओर हमारे द्वारा ध्यान दिया जा रहा है।

दोस्तों ! इस अवसर पर मैं कहना चाहूँगा कि राज्य में औसतन अच्छी बारिश 1200-1400 मी0मी0 होने के बावजूद किसानों को खेती के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिल पाता है, पठारी इलाका होने के कारण पानी का बहाव हो जाता है। साथ ही मिÍी के कटाव से भू-क्षरण की अनेक समस्यायें आ जाती हैं। खेती के लिए पानी की कमी का एक महत्वपूर्ण कारण मानसून की अनिषिचतता भी है। अत: कृषि हित में जल संग्रहण बेहद उपयोगी है, इससे जल स्तर भी हमें अपने अनुकूल देखने को मिलता है। इसलिए मैं जल संग्रहणजल छाजन करने हेतु किसानों को इसके प्रति जागरूक होने के लिए कहता हूँ, कृषि विभाग तथा जल छाजन से जुड़े अन्य विभाग एवं स्वयंसेवी संस्था भी कृषकों में भूमि एवं जल संरक्षण हेतु जागरूकता लाने का कार्य करे।

मेरा मानना है कि कृषि पैदावार को बढ़ाने में कृषकों को नयी तकनीकों को भी अपनाना चाहिए, इस हेतु ससमय प्रषिक्षण कार्यक्रम भी चलाया जाय। मुझे खुशी है कि कृषि विभाग द्वारा इस दिशा में कार्य करते हुए भूमि संरक्षण निदेषालय अन्तर्गत कृषकों को कृषि कार्य में दक्षता एवं भूमि संरक्षण की महŸाा पर आधारित आधुनिक तकनीकों का प्रषिक्षण प्रदान करने हेतु राज्यस्तरीय जल छाजन प्रषिक्षण केन्द्र, नगड़ी, राँची के परिसर में इस नव निर्मित छात्रावास में प्रति वर्ष लगभग दस हजार किसानों को ट्रेनिंग दी जायेगी। भूमि संरक्षण निदेषालय अन्तर्गत विभिन्न प्रषिक्षण केन्द्रों को सुचारू रूप से चलाने हेतु सोसार्इटी रजिस्ट्रेषन एक्ट के तहत श्श्रींताींदक ।हतपबनसजनतम ंदक ैवबपंस डंदंहमउमदज प्देजपजनजमश् ; श्र।ैडप्छ) का निबंधन करा कर स्वायत संस्था का गठन कर लिया गया है, जिसके जरिये ज्तंपदपदह प्देजपजनजम को सुचारू रूप से चलाने की जिम्मेवारी होगी।

राष्ट्रीय खाध सुरक्षा मिषन का हम पूरा लाभ उठायें, ताकि दलहन के पैदावार में और बढ़ोतरी हो सके। हालांकि किसानों के बेहतर प्रयास के कारण हमारे सूबे को इस क्षेत्र में —षि कर्मण पुरस्कार से नवाजा गया है। किसान भाइयों राज्य के हर जिले में 6000 हजार एम0टी0 के एक-एक एवं 1000 हजार एम0टी0 के दो-दो गोदाम तथा प्रत्येक प्रखण्ड में 100 एम0टी0 के दो-दो गोदाम तैयार किये जा रहे हंै, जिससे कृषि उत्पादों के भण्डारण, मूल्य निर्धारण एवं वितरण को सुनिषिचत किया जा सकेगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना एवं पूर्वी राज्यों में द्वितीय हरित क्रांति विस्तार योजना (ठळत्म्प्) अन्तर्गत बिरसा पक्का चेक डैम, लिफ्ट सिंचार्इ व्यवस्था की समेकित योजना एवं राज्य योजनान्तर्गत पुराने बड़े तालाबों का मशीन द्वारा गहरीकरण कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *