राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्म दिवस…

Press Release

Mohandas Karamchand Gandhi,Mahatma Gandhi Pictures Free Download,Childhood Photo Galleries,Mahatma Gandhi Pictures, Free Downloadआज राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्म दिवस पर मोरहाबादी सिथत उनकी प्रतिमा पर महामहिम राज्यपाल श्री सैयद अहमद, माननीय मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा, विधान सभा अध्यक्ष श्री सी0पी0सिंह, राज्य समन्वय समिति के अध्यक्ष श्री शिबू सोरेन श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए मुख्य समारोह में समिमलित हुए।

झारखण्ड राज्य खादी ग्रामोधोग द्वारा आयोजित इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में महामहिम राज्यपाल श्री सैयद अहमद ने महात्मा गाँधी एवं स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री को नमन करते हुए श्रद्धांजली अर्पित की। महात्मा गाँधी को युग पुरूष बताते हुए उन्होंने कहा कि वे मानव जीवन के प्रेरणाश्रोत थे। उन्होंने सत्य, अहिंसा, त्याग को अपने जीवन में व्यवहारिक रूप मे अंगीकार किया जिसके आगे ब्रिटिश हुकुमत को झुकना पड़ा। उनका दर्शन हृदय परिवर्तन का था। उन्होंने घृणा को प्रेम से, हिंसा को अहिंसा से विजय का मार्ग बताया। आत्मबल आत्मविश्वास से उन्होंने विजय पार्इ। उनके लिए अहिंसा किसी भी जीवित प्राणी को किसी भी प्रकार का कष्ट न देना था। उन्होंने कभी भी किसी समझौते के लिए अपने आदर्श को नही छोड़ा। अपने आदर्शों के आधार पर हमें अजादी दी, आज हम संकल्प लें कि इस आजादी को हम बचाएंगे। उनके राष्ट्रवाद के सिद्धांत में विश्व कल्याण की कामना थी। उनके सिद्धांत आज भी उतने ही प्रासंगिक है। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए उन्होंने ग्रामीण कुटीर उधोग पर बल दिया था जो आज भी महत्वपूर्ण है। आज जरूरत है, बापू को समझने की।

मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि यह कोर्इ औपचारिक आयोजन का नही अपितु संकल्प का दिवस है। इसका रचनात्मक उदेश्य इस कार्यक्रम में निहित है। गाँधी जी के चिंतन, विचार और आर्थिक नीति आज भी प्रासंगिक है। हम संघर्ष कर कुछ प्राप्त करते हैं फिर उसके महत्व को समझ नही पाते। परिणाम होता है कि हम उसे वास्तविक स्वरूप में नही ढाल पाते। सत्य को स्वीकार कर इसे अपनी ताकत बना सके और इस ताकत का उपयोग कर हम प्रगति कर सकें, इसके लिए एक चिंता, एक चिंतन सदैव महात्मा गाँधी के साथ था। महात्मा गाँधी ने देश के विकास हेतु शिक्षा एवं ग्रामीण रोजगार की बात कही थी। आज के सर्वशिक्षा की बात महात्मा गाँधी ने उस समय ही कहा था। व्यकित, समाज एवं राष्ट्र सभी व्यवसिथत तरीके से विकास को पाएं इस हेतु उन्होंने ग्रामस्वराज की बात कही थी। उन्होंने हर व्यकित को उत्पादन से जोड़ने के लिए खादी को चुना था, ताकि उत्पादन सतत बना रहे और हर व्यकित उत्पादक बने। आज की पंचवर्षीय योजनाओं में हम इन बातों पर बल देते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्र की मजबूती के लिए बापू ने गाँव को मजबूत बनाने को आवश्यक बताया था। आजादी के बाद इस देश को कैसा देखना चाहते हैं इसके लिए उनके पास एक चिंतन था। पंचायत, ग्राम जो सबसे मजबूत इकार्इ है, उसे मजबूती प्रदान किए बिना सेल्फ गर्वनेंस की बात नही हो सकती। अपने आप को अनुशासित आत्मनिर्भरशील बनाना होगा तभी व्यकित सदैव जीवन्त मुस्कराता रहेगा।

उन्होंने कहा कि यह एक संकल्प का दिन है कि महात्मा गाँधी जी के चिंतन को दूरदराज तक पहुँचाएंगे। उनके सपनों को संकल्प के रूप में लें और आगे बढ़ाएंगे।
विधान सभा अध्यक्ष श्री सी0पी0सिंह ने महात्मा गाँधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्म दिवस पर नमन करते हुए कहा कि गाँधी जी के विचार हमेशा से प्रासंगिक थें, हैं और रहेंगे। उनके विचारों को जीवन में अपनाना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजली होगी। आज हम यह संकल्प लें कि भारत में बनने वाली वस्तुओं को अपनाकर गाँधी जी के सपनों को साकार करने में सहयोग दें।

इस अवसर पर झारखण्ड खादी ग्रामोधोग की तरफ से अध्यक्ष श्री जयनन्दू द्वारा महामहिम राज्यपाल, माननीय मुख्यमंत्री, माननीय विधान सभा अध्यक्ष एवं सभी अतिथियों को पुष्पगुच्छ, अंगवस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। अपने स्वागत भाषण में श्री जयनन्दू ने झारखण्ड खादी ग्रामोधोग द्वारा शुरू की गर्इ नर्इ योजनाओं-असंगठित कारीगरों के लिए डाक विभाग के माध्यम से ग्रामीण जीवन बीमा योजना, भारतीय जीवन बीमा नीगम के माध्यम से 101 लोगों को जनसेवी बीमा योजना जिसके तहत न्यूनतम 3,500 रू0 प्रतिमाह पेंशन, शिल्पी स्वरोजगार योजना के तहत प्रशिक्षित महिलाओं को प्रोत्साहन स्वरूप अनुदान पर उपकरण इत्यादि की जानकारी दी।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री रोजगार श्रृजन योजना (पी0एम0र्इ0जी0पी0) के तहत पिछले वित्तीय वर्ष में सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बैंक आफ इणिडया को राज्य स्तरीय पुरस्कार तथा अलाहाबाद बैंक, वनांचल ग्रामीण बैंक, झारखण्ड ग्रामीण बैंक, सेंन्ट्रल बैंक आफ इणिडया, स्टेट बैंक आफ इणिडया को प्रमण्डलीय स्तर पर सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु पुरस्कृत किया गया।

समारोह में महामहिम राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री आदित्य स्वरूप, प्रधानसचिव ग्रामीण विकास विभाग श्री आर0एस0पोददार, उधोग सचिव श्री ए0पी0सिंह समेत अनेक गणमान्य लोग उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *