I have kept my promise to empower female Mukhiyas ,says Governor Ahmad

Top Stories

Governor Syed Ahmad today said that he had fulfilled the promise of empowering elected women representatives of the local bodies.

“In my address to the people on January 26,I had promised to provide power to the women representatives of the local bodies.Now,eight departments had transferred power to them”,said governor Ahmad while addressing a meeting of elected women representatives of the local bodies including the panchyat.

On the occasion,the Raj Bhawan issued a press release giving details of his address which we are carrying here below.

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा है कि दिनांक 26 जनवरी, 2013 को गणतंत्र दिवस के अवसर पर उन्होंने अपने सम्बोधन में पंचायतों को उनका यथोचित अधिकार प्रदान करने हेतु अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की थी। अत: उन्होंने अपने वादे को निभाते हुए पंचायतों को Ñषि, स्वास्थ्य, षिक्षा (प्राथमिक), कल्याण, समाज कल्याण आदि विभाग द्वारा पंचायत स्तर पर होने वाले कार्यों का अधिकार प्रदŸा कर दिया है तथा शीघ्र ही आठ विभागों यथा खाध आपूर्ति विभाग (जन वितरण प्रणाली के संबंध में), पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, उधोग विभाग, वन एवं पर्यावरण विभाग, लघु सिंचार्इ विभाग, पशुपालन एवं मत्स्य पालन विभाग एवं कला, संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग आदि द्वारा भी यथाशीघ्र ही पंचायत स्तर पर होने वाले कार्यों का अधिकार प्रदान किया जायेगा। शेष विभाग द्वारा भी कार्रवार्इ सुनिषिचत करने हेतु उनकेे द्वारा निदेष दिया गया है ताकि ग्रामीण जनता अपनी आवष्यकताओं के अनुरूप योजना बनाकर विकास हेतु कार्य कर सकें तथा गाँवों की तीव्र गति से उन्नति हो। महामहिम राज्यपाल आज मोरहाबादी मैदान में पंचायत महिला शकित अभियान के राज्यस्तरीय सम्मेलन के अवसर पर त्रि-स्तरीय पंचायत के महिला जन-प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर राज्यपाल के परामर्षी श्री मधुकर गुप्ता, मुख्य सचिव श्री एस0के0 चौधरी, विकास आयुक्त श्री देवाषीष गुप्ता समेत राज्य के वरीय पदाधिकारीगण एवं त्रि-स्तरीय पंचायत के महिला जन-प्रतिनिधिगण उपसिथत थे।

इस अवसर पर महामहिम राज्यपाल ने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में कम्प्यूटर स्थापित किये जायेंगे, जिसमें सम्बद्ध पंचायत के सभी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध रहेगी ताकि पंचायत अपने क्षेत्र के विकास के लिए बेहतर योजनायें बना सकें। साथ ही सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण किया जायेगा एवं जिला परिषदों को भी अपना भवन सुलभ कराया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि त्रि-स्तरीय पंचायत के प्रतिनिधिगण जनहित में अपने कर्Ÿाव्यों का कुषलतापूर्वक निर्वहन करें, इस हेतु पंचायत प्रतिनिधियों को उत्कृष्ट प्रषिक्षण सुलभ कराने हेतु निदेष दिया गया। अत: चरणबद्ध तरीके से सभी पंचायतों के पदधारकों को बेहतर कार्य करने हेतु प्रषिक्षण की व्यवस्था की जायेगी। इसके पीछे उनकी सोच है कि हमारे पंचायत प्रतिनिधिगण अपने कार्यों एवं पंचायत गठन के उद्देष्यों को पूर्ण रूप से समझ सकें व जन कल्याण हेतु सदैव तत्पर रहें।

महामहिम राज्यपाल ने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि उन्होंने बहुत सोच-समझकर पंचायत के हाथों में जिम्मेवारी दी है। बहुत सारे लोग है, जो ऐसा सोचते एवं अपेक्षा करते हैं कि आप इस कार्य को दक्षतापूर्वक नहीं कर पायेंगी लेकिन उन्हें पूर्ण विष्वास है कि पंचायत प्रतिनिधिगण पूरी र्इमानदारी, लगन एवं मुस्तैदी के साथ लोगों के कल्याण के लिए अपना जीवन व्यतीत करेंगे। इससे हमारे झारखण्ड, देष एवं वर्Ÿामान तथा भावी पीढि़यों का कल्याण होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में 56 प्रतिषत से अधिक महिला जन-प्रतिनिधि निर्वाचित होकर शासन व्यवस्था में सक्रिय भागीदारी निभा रही हैं। यह महिला सषकितकरण की दिषा में एक महŸवपूर्ण उपलबिध है।

इस अवसर पर राज्यपाल के परामर्षी श्री मधुकर गुप्ता ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधिगण अपने दायित्वों का कुषलतापूर्वक निर्वहन करें, वे कोर्इ षिकायत वाला कार्य न करें। उन्होंने कहा कि पंचायतों को शकित प्रदŸा करने का आषय रहा है कि जमीनी स्तर पर तेजी से कार्य हो एवं उसमें पारदर्षिता भी रहे। इस प्रषिक्षण से प्रतिनिधियों की क्षमताओं में विकास होगा। मुख्य सचिव श्री एस0के0 चौधरी ने कहा कि अधिकार और कर्Ÿाव्य एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। अत: सभी पंचायत प्रतिनिधिगण पूरी र्इमानदारी, निष्ठा व लगन से कार्य करेंंगे, ऐसी उन्हें आषा है। जनता के पत्येक पैसा को र्इमानदारी से खर्च करे। पंचायत भवनों में सोलर सिस्टम लगाये जायेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पंचायत सेवकों की नियुकित की दिषा में शीघ्र ही कार्रवार्इ की जायेगी। आरम्भ में अतिथियों का स्वागत करते हुए पंचायती राज सचिव श्री राजीव अरूण एक्का ने कहा कि पंचायत महिला शकित अभियान भारत सरकार की एक महŸवपूर्ण योजना है। पंचायती राज व्यवस्था सुढृढ़ हो, महिला नेतृत्व को बढ़ावा मिले तथा पंचायत की सिथति को बेहतर बनाने के उद्देष्य से इस सम्मेलन का आयोजन किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.