षिष्टाचार भेंट के दौरान मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली : महामहिम

Press Release

राँची, 17 जुलार्इ, 2012

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने माननीय मुख्यमंत्री श्री अर्जुन  मुण्डा से आज उनके आवास पर षिष्टाचार भेंट के दौरान मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली तथा उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। महामहिम राज्यपाल इस दौरान मुख्यमंत्री के परिवारजनों से भी मिले। उनके साथ महामहिम राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री आदित्य स्वरूप, महामहिम राज्यपाल के ए0डी0सी0 भी उपसिथत थे।

राँची, दिनांक 16, जुलार्इ, 2012
हरेक आम आदमी तक मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने के राज्य सरकार के प्रयास को रेखांकित करते हुए मुख्यमंत्री श्री अर्जुन  मुण्डा ने कहा कि सबको मिलकर सकारात्मक उर्जा के साथ नर्इ पीढ़ी का भविष्य गढ़ना है। राज्य में उर्जा उत्पादन, संचरण एवं वितरण की परियोजनाओं से रोशनी हो, खेतों को पानी मिलें साथ ही कुटीर उधोग, उधम एवं उधमिता का विकास हो ताकि राज्य की आर्थिक समृद्धि हो। आज अपने आवास से राज्य समन्वयन समिति के माननीय अध्यक्ष, श्री शिबू सोरेन की उपसिथति में गोडडा जिले के ललमटिया गि्रड सब स्टेशन में नव स्थापित 100 एम0वी0ए0 के पावर ट्रांसफार्मर का आनलार्इन उदघाटन कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि ललमटिया गि्रड में 100 एम0भी0ए0 एवं पावर ट्रांसफार्मर के उर्जानिवत होने से एन0टी0पी0सी0 से करीब 70 मेगावाट अतिरिक्त बिजली क्रय किया जाना संभव हो सकेगा। इससे पूरे संताल परगना क्षेत्र में निर्बाध बिजली की आपूर्ति सुनिशिचत होगी। इससे संताल परगना में औधोगिक विकास एवं आर्थिक आत्मनिर्भरता के नए आयाम विकसित होंगें।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि उर्जा से बहुमुखी विकास हो। यह मात्र घर में रोशनी जगमगाने का माध्यम न हो बलिक उधम और उधमिता के विकास में विधुत उर्जा का उत्पादक प्रयोग हो। इससे हम आनी वाली पीढि़यों के लिए आर्थिक सुरक्षा के साथ-साथ रोजगार के मौके सृजित कर पाएँ तभी उर्जा के उपयोग की सार्थकता है।

झारखण्ड राज्य को विधुत उत्पादक राज्य की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि क्वालिटी पावर सुनिशिचत करने के साथ-साथ राज्य में नर्इ विधुत परियोजनाओं के संस्थापन सहित संचरण एवं वितरण की प्रणाली को सुदृढ़ किया जा रहा है। संताल परगना क्षेत्र में भी नए विधुत संयं़त्रों की स्थापना के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि फरक्का से ललमटिया तक की संचरण प्रणाली को विकसित किए जाने के साथ-साथ पलामू से हटिया गि्रड को जोड़ने के प्रयत्न किए जा रहे हैं। फिलहाल इस उर्जा उत्पादक राज्य के पाकुड़ जिले को बंगाल से एवं पलामू जिले को बिहार से बिजली मिलती है जो एक बिडंबना है। उर्जा क्षेत्र के सूधारों के तहत हाल ही में जगन्नाथपुर, कुचार्इ, सिमडेगा सहित कर्इ पावर सब स्टेशनों का उदघाटन किया गया है। साथ ही संचरण लार्इनों को दुरूस्त किया जा रहा है।

चालू खरीफ सीजन में हुर्इ कम बारिश से उत्पन्न हो रही परिसिथतियों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि वैकलिपक Ñषि एवं आपदा प्रबंधन हेतु आम जनता के साथ-साथ सभी जनप्रतिनिधियों को पूरी इच्छा शकित के साथ समाधान करना है।

ललमटिया सिथत सभा-स्थल पर उप मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन, सांसद श्री निशिकांत दूबे, सहकारिता एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री हाजी हुसैन अन्सारी, स्वास्थ्य मंत्री श्री हेमलाल मूर्मू, विधायकगण श्री लोबिन हेम्ब्रम, श्री प्रदीप यादव एवं श्री राजेश रंजन सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपसिथत थे।
मुख्यमंत्री आवास से हुए आनलार्इन उदघाटन के मौके पर अध्यक्ष, झारखण्ड राज्य विधुत नियामक आयोग, श्री मुख्तयार सिंह, विकास आयुक्त श्री देवाशीष गुप्त, प्रधान सचिव, उर्जा विभाग, श्री विमल कीर्ति सिंह, अध्यक्ष, झारखण्ड राज्य विधुत बोर्ड श्री एस0एन0वर्मा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डा0 डी0के0तिवारी, आरक्षी महानिरीक्षक श्री अनुराग गुप्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *