Governor Ahmed goes on Vikas yatra to Hazaribagh,Koderma,Dhanbad

Top Stories

Keeping an eye on his own performance,Governor Syed Ahmed to day began his two day Vikas Yatra.He was accompanied by his staff.

As Jharkhand has been under the president’s Rule since January 18,Governor Ahmed took the road route to go to Koderma to distribute assets and inaugurate a number of development projects there.

After spending the night at Koderma,Governor Ahmed was slated to go to Dhanbad on Wednesday.

At Dhanbad,he is scheduled to distribute assets and lay foundation stone of development projects there.incidentally,both Koderma and Dhanbad fall in Maoist-free belt of Jharkhand

In any case,he was supposed to come back to the Raj Bhawan in Ranchi tomorrow evening.

Prior to visiting Koderma Governor Ahmed inspected the District Collector’s office in Hazaribagh.In these districts he spoke and talk about the issues of goverance and development.

Press release issued by public relation manager Kranti Kant gave details of his speeches in these districts.These were as follows:

माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा है कि सभी व्यकित जनहित में अपना कार्य पूरी निश्ठा और समर्पण भाव के साथ करें, चाहे वो पदाधिकारीगण हो अथवा जनप्रतिनिधिगण। उन्होंने कहा कि जब से वे राज्य में आयें है,ं तब से निरंतर वे विकास कायोर्ं की समीक्षा इस आषय के साथ किया करते हैं कि जहां कहीं भी कमियां हो, उनका निराकरण किया जा सके। सड़क मार्ग से दौरा कर सड़क की सिथति के साथ-साथ अन्य मुददों को भी देखते हैं। माननीय राज्यपाल महोदय आज कोडरमा में कुल 46 योजनाओं का उदघाटन और 22 योजनाओं का षिलान्यास कर रहे थे । उन्होंने इस अवसर पर कर्इ लाभुकों के मध्य परिसम्मपति का भी वितरण किया । कार्यक्रम में विधानसभा सदस्य श्रीमती अन्नपूर्णा देवी, श्री अमीत कुमार यादव, श्री उमाषंकर अकेला, जिला परिशद, कोडरमा के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री एन0एन0 सिन्हा, आयुक्त एवं डी0आर्इ0जी0 उŸारी छोटानागपुर प्रमण्डल आदि भी उपसिथत थे ।

माननीय राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा कि पदाधिकारीगण ऐसा काम करें कि लोग उन्हें जीवनपयर्ंत याद रखेेंं, काम सतह पर दिखना चाहिए । उन्हेंने कहा कि सभी लोग अपने-अपने स्तर पर तीव्रता के साथ काम करें और राज्य के विकास में तेजी लाएं । राज्यपाल महोदयन ने इस अवसर पर कहा कि जनअकांक्षाओं को पूर्ण करने हेतु सभी र्इमानदारी और निश्ठा के साथ कार्य करें । उन्होंने कहा कि हर व्यकित को विकास का लाभ मिले, सरकार के द्वारा चलार्इ जा रही योजनाओं का सही से संचालन हो, किसी भी प्रकार की गड़बड़ी अथवा षिकायत प्राप्त होने पर कड़ी कार्रवार्इ की जाएगी । गरीबों और नि:सहायों के कल्याणार्थ बनी योजनाओं का तीव्रता से अनुपालन हो, उन्हें वक्त पर उनका लाभ मिलना चाहिए ।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विकास के लिए कोर्इ भी यदि सुझाव देते हैं, तो वे उनका स्वागत करते हैं। उन्हें हर हाल में विकास चाहिये।

राज्यपाल महोदय ने उक्त अवसर पर अपने संबोधन के दौरान कहा कि सूबे के विकास हेतु उनके द्वारा कर्इ व्यापक प्रयास किये किये जा रहे हैं । अनुसूचित जनजाति श्रेणी के बच्चों को षिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के उददेष्य से 50,000 की राषि से पुरस्कृत किया गया । साहित्यकारों को भी प्रोत्साहन के मकसद से र्इनाम प्रदान किया गया है।

इससे पूर्व माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कोडरमा सदर अस्पताल में न्सजतेंवनदक उंबीपदमए क्पहपजंस ग्.तंल उंबीपदमए म्ब्ळ उंबीपदम और चल चिकित्सा वाहन में ळच्त्ै प्रणाली तथा बायोमैट्रीक प्रणाली का उदघाटन किया ।
————————————————————

माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने आज कोडरमा जिला में वहां के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक आहूत की । बैठक में उन्होंने कहा कि सभी पदाधिकारीगण अपना कार्य पूरी तत्परता व निश्ठा के साथ करें, वे जनहित के कार्य उसी समर्पण भाव के साथ करें जैसा कि वे अपने घर का काम करते हैं । उन्होंने कहा कि सभी पदाधिकारी राज्य के विकास हेतु आपसी समन्वय के साथ कार्य करें, कार्य को एक दूसरे का बहाना बनाकर न टालें ।

राज्यपाल महोदय ने पेयजलापूर्ति की समीक्षा करते हुए तिलैया में षीघ्र ही जलमीनारों से जलापूर्ति आरंभ करने का निर्देष दिया । उन्होंने खराब हैण्डपम्प की मरम्मती तथा आवष्यकतानुसार नये चापानल स्थापित करने हेतु कहा । उन्होंने मनरेगा के कार्यान्वयन की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे पास सभी संसाधन उपलब्ध है तो हम बेहतर कार्य क्यों नहीं कर पा रहे हैं ? उन्होंने इंदिरा आवास योजना के कार्यान्वयन की और भी गम्भीरतापूर्वक ध्यान देने हेतु कहा ।

राज्यपाल महोदय ने बैठक में कहा कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा सुलभ हों, योजनाओं का लाभ लोगों को भरपूर मिले, इस हेतु जिला में स्वास्थ्य विभाग से सम्बद्ध पदाधिकारीगणचिकित्सकगण पूरी सकि्रयता के साथ कार्य करें। बैठक में उन्होंने कोडरमा में पंचायत भवन तथा आंगनबाड़ी केन्द्र भवन के निर्माण षीघ्रता से करने हेतु कहा । उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्र का संचालन बेहतर तरीके से हो, इस हेतु निरन्तर अनुश्रवण करने का निदेष दिया । राज्यपाल महोदय ने उक्त अवसर पर कहा कि लमिबत योजनाओं को षीघ्र कार्यानिवत करें तथा खराब काम करने वाले संवेदकों को ब्लैक लिस्टेड करें । बैठक में उन्होंने वृद्धावस्था पेंषन, विधवा पेंषन, विकलांगता पेंषन आदि का लाभ लाभुकों को सही समय पर मिले, अधिकारी इसे सुनिषिचत करें । उन्होंने यह भी कहा कि लाभ सही व्यकित को ही मिलनी चाहिए, किसी व्यकित का इसपर हक है तो वह छूटना नहीं चाहिए । इस निमित लोगों को जागरूक करने की आवष्यकता हो तो जरूर करें, उन्होंने सर्वषिक्षा अभियान के बेहतर कार्यान्वयन का निदेष दिया । विधुतीकरण की समीक्षा करते हुए उन्होंने जले हुए ट्रांसफर्मर की षीघ्र मरम्मती अथवा बदलने का निदेष दिया । साथ ही उन्होंने छूटे हुए ग्रामों को उर्जानिवत करने हेतु कहा ।

माननीय राज्यपाल महोदय ने विधि व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि जिला में अपराध पर नियंत्रण हेतु पुलिस प्रषासन पूरी मुस्तैदी से कार्य करें । उन्होंने पेट्रोलिंग निरंतर करने का निदेष दिया तथा कहा कि इससे अपराधी पकड़ में आते हैं । उन्होंने नाकाबंदी पर भी बल दिया । बैठक में उन्होंने पुलिस लार्इन निर्माण की भी प्रगति की समीक्षा की ।

———————————————————— माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद आज हजारीबाग सिथत समाहरणालय का भ्रमण किया एवं वहां के अधिकारियों के साथ विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन पर परिचर्चा की । विदित हो कि राज्यपाल महोदय आज कोडरमा में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने हेतु राजभवन से सड़क मार्ग से गये । उन्होंने हजारीबाग समाहरणालय में उपसिथति पंजिका को भी देखा तथा कहा कि सभी पदाधिकारी व कर्मी नियमित रूप से कार्यालय आयें, बेहतर कार्य संस्कृति हो तथा जनहित के लिए पूरी निश्ठा के साथ कार्य करें । उन्होंने सभी से राज्य विकास हेतु कल्याणकारी योजनाओं का कार्यान्वयन तीव्रता से करने हेतु निदेष दिया ।

हजारीबाग की विधि व्यवस्था के संदर्भ पृच्छा करते हुए निदेष दिया कि जिला में विधि-व्यवस्था को प्रभावी बनाने हेतु पुलिस प्रषासन पूरी तत्परता से कार्य करें । कोर्इ भी व्यकित थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने आते हों, तो उनकी षिकायत को दर्ज करें तथा साथ ही उनसे बेहतर आचरण से पेष आयें । महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा की ओर विषेश ध्यान देने का निदेष दिया । षैक्षणिक संस्थान में बेहतर माहौल हो, इस दिषा में निरंतर अनुश्रवण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *