Good governance need of the hour,says Gupta

Top Stories

Advisor Madhukar Gupta

Governor’s Advisor Madhukar Gupta today addressed the freshly appointed officers at the ATI conference hall and observed that good goverance is the need of the hour.

The state public relations department issued a press release giving details of the conference.

These are as follows:

 

महामहिम राज्यपाल के सलाहकार श्री मधुकर गुप्ता ने कहा कि नवनियुक्त पदाधिकारी देश की युवाओं की आवाज बनें। सभी स्तरों पर आज देश में गुड गवर्नेन्स की मांग है। युवा पदाधिकारी इस राज्य को गुड गवर्नेन्स के जरिए आगे ले जा सकते हैं, इसके लिए उन्हें आम-अवाम की अपेक्षाओं पर खरा उतरना होगा। लोगों को बेहतर सेवा देकर अधिकारी लोगों का विश्वास जीत सकते हैं, इससे पदाधिकारियों के स्वयं के आत्मसम्मान में भी वृद्धि होगी एवं लोगों के सहयोग से मुशिकल समस्याओं का हल आसान हो जाएगा। वे आज स्थानीय श्री Ñष्ण लोक प्रशासन संस्थान में झारखण्ड प्रशासनिक सेवा, झारखण्ड सूचना सेवा एवं झारखण्ड निबंधन सेवा के परिक्ष्यमान पदाधिकारियों के आधारभूत प्रशिक्षण के उदघाटन सत्र को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होेंने नव-नियुक्त पदाधिकारियों से कहा कि वे राज्य की महत्वपूर्ण सेवा में आए हैं, इसलिए उनसे अपेक्षा की जाती है कि वे लोक सेवा के उíेश्यों को पूरा करेंगे। इसका सबसे आसान तरीका है कि आप स्वयं से सवाल करें कि मेरी लोक सेवा का उíेश्य क्या है और हमारी जिम्मेवारी क्या होनी चाहिए। कार्यान्वयन के लिए जिम्मेवार पदाधिकारी को अपनी भूमिका के प्रति सजग होना चाहिए तभी सरकारी सेवा से आत्मसंतुषिट मिलेगी तथा अपनी पहचान भी बनेगी। उन्होंने नवनियुक्त पदाधिकारियों का आहवान किया कि लोक सेवा की भावना एवं नेतृत्वगुण के साथ आगे बढ़ने का जज्बा सरकारी सेवा के उíेश्यों की प्रापित में आपका मददगार होगा।

राज्य के मुख्य सचिव श्री एस0के0चौधरी ने श्री Ñष्ण लोक प्रशासन संस्थान की विशेषताओं को रेखांकित करते हुए कहा कि परिक्ष्यमान पदाधिकारियों के प्रशिक्षण में राज्य में सिथत महत्वपूर्ण संस्थानों के विषयवस्तु विशेषज्ञों का सहयोग लिया जाता है, अतएव प्रशिक्षण के दौरान परिक्ष्यमान पदाधिकारी जो अनुभव प्राप्त करेंगे वह उनके पूरे सेवा काल के लिए महत्वपूर्ण होगा। उन्होंने राज्य सरकार की ओर से सभी परिक्ष्यमान पदाधिकारियों का स्वागत किया। श्री Ñष्ण लोक प्रशासन संस्थान के महानिदेशक, श्री ए0के0पाण्डेय ने अपने सम्बोधन में नवनियुक्त पदाधिकारियों से अपेक्षा कि के वे अपनी जिम्मेवारियो को समझें एवं अपने आप को समाज के लिए आदर्श के रूप में स्थापित करें। प्रधान सचिव, कार्मिक प्रशासनिक एवं राजभाषा सुधार विभाग श्री आदित्य स्वरूप ने सरकारी सेवा की विशेषताओं एवं चुनौतियों पर प्रकाश डालते हुए परिक्ष्यमान पदाधिकारियों से अपेक्षा की कि वे प्रशिक्षणोपरांत अपनी उत्Ñष्ट सेवा देने में कोर्इ कसर नहीं छोड़ेंगे।

कार्यक्रम का संचालन कार्मिक प्रशासनिक एवं राजभाषा सुधार विभाग की संयुक्त सचिव श्रीमती सरोज श्रीवास्तव ने किया। धन्यवाद ज्ञापन श्री Ñष्ण लोक प्रशासन संस्थान के संयुक्त निदेशक डा0 कमल शंकर श्रीवास्तव ने किया। श्री Ñष्ण लोक प्रशासन संस्थान के संयुक्त निदेशक श्री रणेन्द्र कुमार ने बताया कि चतुर्थ संयुक्त असैनिक प्रतियोगिता परीक्षा के परिणाम के आधार पर अनुशंसित झारखण्ड प्रशासनिक सेवा के 105, झारखण्ड सूचना सेवा के 20 एवं झारखण्ड निबंधन सेवा के 05 पदाधिकारियों के इस आधारभूत प्रशिक्षण की अवधि चौदह सप्ताह है। इस आधारभूत प्रषिक्षण के उपरांत नवनियुक्त पदाधिकारियों को फिल्ड ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा। फिल्ड ट्रेनिंग के पश्चात पुन: चार सप्ताह के विषेष प्रषिक्षण का कार्यक्रम है। इस मौके पर सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के अपर सचिव, श्री राजीव लोचन बक्शी, उप सचिव श्री ए0के0रतन, निदेशक श्री आलोक कुमार, कार्मिक प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग के उपसचिव श्री प्रमोद कुमार तिवारी, उपसचिव श्री सुमन कुमार एवं उपसचिव श्री यतिन्द्र प्रसाद उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *