श्री अर्जुन मुंडा ने जमशेदपुर जिला अन्तर्गत बहरागोड़ा प्रखंड के जगन्नाथपुर विधुत सबस्टेशन का आज आनलार्इन उदघाटन किया

Press Release

राँची, दिनांक 10, जूलार्इ, 2012

मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने जमशेदपुर जिला अन्तर्गत बहरागोड़ा प्रखंड के जगन्नाथपुर विधुत सबस्टेशन का आज आनलार्इन उदघाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस विधुत सबस्टेशन के उदघाटन के उपरांत राज्य के पूर्वांचल क्षेत्र में विधुत आपूर्ति सुनिशिचत करना आसान होगा। यह वह क्षेत्र है जहाँ दुहरे-तिहरे फसल की सम्भावना है। विधुत आपूर्ति के  माध्यम से लगभग 75 गाँवों को विधुत दी जा सकेगी।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार गाँव है, किसान है। राज्य एवं देश की खुशहाली तभी सम्भव है जब किसान खुशहाल है। सरकार की यह प्राथमिकता है कि पूरे ट्रास्फारमेशन सिस्टम को ठीक किया जाए। हमें उन घरों तक बिजली पहुँचाना है जहां अंधेरा है। अंधेरों से उजाले की ओर जा कर ही हम 21वीं सदी के पैमाने पर खरा उतर सकते हैं। राज्य में औसत से कम वर्षा पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि वैकलिपक फसल, दलहन, तिलहन पर ध्यान देना है। मेरी प्राथमिकता  बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार है और इसमें विधुत आपूर्ति बहुत बड़ा साधन है।

उन्होेंने कहा कि इससे पूर्व ज्वालकांटा विधुत सबस्टेशन एवं कुचार्इ विधुत सबस्टेशन जनता को समर्पित किया गया। निशिचत ही इस क्षेत्र के विकास में यह विधुत सबस्टेशन सहायक सिद्ध होंगे। हजारों लोंगो में इसके लिए उत्साह एवं उमंग का संचार हुआ है। उन्होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियों में गति तभी सम्भव है जब सड़कें भी अच्छी हों। राष्ट्रीय उच्च पथ की मरम्मतिनिर्माण हेतु भारत सरकार को पत्र भेजा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि  झारखण्ड राज्य विधुत बोर्ड द्वारा बहरागोड़ा प्रखंड के अन्तर्गत जगन्नाथपुर पावर सब स्टेशन का निर्माण केन्द्र द्वारा सम्पोषित ”समेकित कार्य योजना के तहत किया गया है जिसकी कुल लागत 45 कि0मी0 33 के0भी0 लार्इनों के निर्माण के साथ लगभग आठ करोड़ है एवं इसकी क्षमता 10डट। (2ग5 डट। ) की है और यह कठिन एवं चुनौतीपूर्ण कार्य मात्र लगभग छ: महीनों में पूर्ण किया गया है। झारखण्ड राज्य विधुत बोर्ड के संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मचारीगण  धन्यवाद के पात्र हैं। इस केन्द्र के  निर्माण के फलस्वरूप सत्तर से अधिक गाँवों को सुचारू रूप से बिजली उपलब्ध करायी जायेगी। साथ ही Ñषि एवं सिंचार्इ की भी सुविधा उपलब्ध हो पायेगी। ग्रामीण कुटीर उधोग यथा धान कुटार्इ मशीन, आरा मशीन एवं अन्य लधु उधोग इस क्षेत्र में विकसित हो सकेंगे। मुझे आशा है कि इस सबस्टेशन से उपलबध बिजली का आपलोग पूर्णरूपेण उपयोग करेंगे और गाँवों की उन्नति भी होगी। सभी को शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि विकास में सभी की सहभागिता सामान्य रूप से आवश्यक है।

झारखण्ड राज्य विधुत बोर्ड द्वारा प्राप्त सूचना अनुसार इस विधुत सबस्टेशन के उदघाटन से मुख्यत: इन गाँवों में विधुत आपूर्ति सुनिशिचत हो सकेगी।

1     कुमारडुबी

2     खेमार

3     खन्दामुण्डा

4     तारीखसोल

5     खेरूवा

6     बरसोल

7     सूर्यमूही

8     कैपुरा

9     चन्द्रा

10  सन्द्रा

11  वृन्दावनपुर

12  जूगडीहा

13  चित्रेश्वर

14  पारीसोल

15  घ्रुवसार्इ

16  बुरूसाही

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डा0 डी0के0 तिवारी, झारखण्ड राज्य विधुत बोर्ड के अध्यक्ष श्री एस0एन0वर्मा, उर्जा सचिव, श्री बिमल कीर्ति सिंह  समेत अन्य गणमान्य लोग उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *