Can you help this kid reach home?

Top Stories
No body knows who is this four-five year kid.He was located by Shriman Shukla,
State Spokesman cum Secretary of a body called Rashtriy Shaikshik Mahasangh,jharkhand.
Shukla in league with his friends including jharkhandstatenews.com‘s photo incharge highlighted this naked kid’s plight.In fact,they mailed the report carrying the kid’s picture.Shukla’s report in Hindi claims that as he came near him,the kid told him that his father is called Jaikrishna Rao,a pintor,mother Jaimoni,was lost from them.
jharkhandstatenews.com is carrying the report sent by Shukla.It says as follows:

 छोटी-छोटी गलती के लिए अंकल- आंटी बहुत मारते हैं. काजल अंकल लात से मारते हैं हर शाम जब वे क्लिनिक से आते हैं. ललिता आंटी बाथरूम में किवाड़ -खिड़की बंद करके मारती हैं . मोमबत्ती गिरने पर भी बहुत मारती हैं.स्वास्थ्य विभाग झारखण्ड के संयुक्त सचिव से मिलने मैं उनके निजी सचिव दिव्यप्रकाश जी के साथ नेपाल हॉउस (सचिवालय) जा रहा था । वहां एक चार- पांच साल के लड़का बिलकुल नंगे चोटिल स्थिति में खड़ा था। जब हमदोनों लड़के के पास पहुंचे , भीड़ भी वहां पहुंची। यदि आप मेरे इस रिकार्डिंग को देखेंगे तो आप दहल जायेंगे। मानवता को शर्मशार करने वाली कहानी को आप इस बच्चे की जुबानी जरुर सुनें। और आपसे मुझे थोड़ी सी मदद चाहिए।

मैंने इस विडिओ में इतना विस्तृत डिटेल लिया है कि आप थोड़ी सी कोशिश से उसके माँ बाप को मिला सकते हैं लेकिन पुलिस के बारे मैं क्या कहूँ ? जब यह लड़का राउरकेला के काली मंदिर के मेला में खोया था तब वहां के पुलिस ने पास में लड़के के द्वारा लोकेशन {पिता- जयकृष्ण राव, पेंटर ,माता-जयमोनी,दुकान , बड़ा गेट, हनुमान मंदिर के पास लकड़ी का रास्ता, आम का पेड़ , भाडा में }चिन्हित किये जाने के बाद भी पास में माता-पिता के पास पहुँचाने के बजाय टाटा अनाथालय में क्यों पहुंचा दिया ? टाटा अनाथालय ने ऐसे पिशाच को कैसे handover कर दिया ? बच्चे के विडिओ के अनुसार इसे रांची में पुलिसवाले इस दम्पति को handover कर दिए . नियमानुसार बच्चे के करेंट स्टेटस का फालोअप क्यों नहीं लिया गया ?

इस पूरी कहानी में सरकारी अव्यवस्था की पोल खुलती है. मित्रों पुलिस पिछले दो सालों में इसे अपने मा बाप से मिला न सकी , आप इसे अधिक से अधिक शेयर कीजिये. राउरकेला सर्च करके वहां के लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजें एक्सेप्ट करने पर यह विडिओ या चित्र उन्हें शेयर करें .

National Innovation Foundation – India and Social Upliftment Trust, Hazaribag के सचिव राजीव रंजन पाण्डेय जी और चाइल्डलाइन का बहुत बहुत धन्यवाद जो इस बच्चे के असली मा-बाप को ढूढ़ने में लगें है. दोस्तों इसे अधिक से अधिक शेयर करें . आप इसे अपने जन्मदाता से दो हफ्तों में मिला सकते हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *