Activists get RTI Awards

Top Stories

Jharkhand RTI Forum today awarded 16 activists who had championed the cause of Right to Information Act in Jharkhand.
A press release sent by RTI Forum’ Secretary Vishnu Rajgarhiya in Hindi said as follows:

झारखंड आरटीआइ फोरम ने आज 16 आरटीआइ कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया। इन्होंने आरटीआइ के जरिये ग्रामीण क्षेत्रों में व्यवस्था को सुधारने में सफलता पायी है। चैंबर भवन सभागार, कडरू बाइपास में आयोजित इस सेमिनार का विषय था- पारदर्षिता में सिविल सोसाइटी की भूमिका। यह सेमिनार नयी दिल्ली की संस्था मीडिया इनफोरमेषन एवं कम्युनिकेषन सेंटर आफ इंडिया तथा एफजेसीसीआइ के सहयोग से हुआ। झारखंड आरटीआइ फोरम के सचिव डा विष्णु राजगढि़या ने 16 नागरिकों की उपलबिधयों पर प्रकाष डाला।

सेंटर की निदेषक श्रीमती नंदिनी सहाय तथा एफ.इ.एस. इंडिया के सीनियर मीडिया एडवाइजर श्री राजेष्वर दयाल इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। झारखंड चैंबर के अध्यक्ष रंजीत टिबड़ेवाल, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के जनसंचार के डीन प्रोफेसेर संतोष तिवारी तथा झारखंड आरटीआइ फोरम के अध्यक्ष बलराम ने भी अपने-अपने विचार रखे। सेमिनार के दौरान पंचायत में आरटीआइ के उपयोग पर एक बुलेटिन का विमोचन भी किया गया।

मिक्की की निदेषक नंदिनी सहाय ने गुड गवर्नेंस के लिए सूचना अधिकार कानून के अधिक से अधिक प्रयोग करने की अपील की। एफएएस के राजेष्वर दयाल ने कहा कि देष में 66 साल से लोकतंत्र है पर असल लोकतंत्र अब आया है। सेंट्रल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर संतोष कुमार तिवारी ने सूचनाधिकार और पीआइएल के एक साथ प्रयोग करने पर जोर दिया। पंचायती राज विषेषज्ञ अजीत कुमार सिंह ने पायस योजना से संंबंधित जानकारी दी। डा सुरंजन एवं हलधर महतो ने कुपोषण समस्या और इसे रोकने में पंचायतों के प्रयासों के बारे में बताया। कार्यक्रम में विभिन्न पंचायतों के मुखिया एवं प्रमुख भी मौजूद थे। इस दौरान पंचायतों में आरटीआइ के उपयोग पर चर्चा हुर्इ।

जिन्हें मिला आरटीआइ सम्मान – पुष्पा देवी (बोकारो), मिथिलेष कुमार सिन्हा (देवघर), दिनेष महतो (जमषेदपुर), विजय यादव (कोडरमा), रघुनंदन प्रसाद सिंह (देवघर), मुकेष कुमार (देवघर), संजीत कुमार चंद्रा (रांची), घनष्याम पाठक (गढ़वा), हेमंती मुदी (पूर्वी सिंहभूम), सुकुमार पाठक (पूर्वी सिंहभूम), पुष्पा रानी महतो (पषिचमी सिंहभूम), दीपक पांडेय (धनबाद), वीर बहादुर सिंह (पूर्वी सिंहभूम), पीयूष तिवारी (गढ़वा), जेम्स हेरेंज (लातेहार), प्रतुल शाहदेव (रांची).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *