18 हजार क्विंटल धान ले गये किसान

Jharkhand News Stories

 किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर हुई धान खरीद में नया मामला सामने आया है. जिला सहकारिता पदाधिकारी, बोकारो ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी, बोकारो को सूचित किया है कि जिले के पांच पैक्स से 17834 क्विंटल धान किसान जबरन ले गये हैं. ऐसा इन किसानों को धान के बदले पैसे का भुगतान न कर पाने की वजह से हुआ है.

Paddy
Paddy (धान)

डाबर पुण्डरू, कुर्रादुधीगाजर, नावाडीह, चंद्रा व लाघला नरकेरा पैक्स में 31 मार्च तक कुल 83387 क्विंटल धान की खरीद हुई थी. वहीं जिले भर के 25 पैक्स के माध्यम से 247705.38 क्विंटल धान 1080 रु प्रति क्विंटल की तय दर से खरीदे गये थे. इसके बदले 17.95 करोड़ रु ही उपलब्ध कराये गये हैं.

सहकारिता पदाधिकारी के अनुसार किसानों को उनका उधार चुकता करने के लिए झारखंड राज्य खाद्य आपूर्ति निगम (एसएफसी) से शेष रकम 8.80 करोड़ की मांग की गयी थी, जो उपलब्ध नहीं करायी गयी. इसी के बाद किसान पैक्स अध्यक्ष/प्रबंधक पर दबाव डाल कर अपना धान वापस ले गये. राज्य मुख्यालय को भी इसकी सूचना दी गयी है.

उधर जिला सहकारिता पदाधिकारी, गुमला ने विभागीय सचिव सह एसएफसी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक अजय कुमार सिंह को त्रहिमाम भेजा है. इसमें किसानों से खरीदे गये धान की बकाया राशि देने का आग्रह किया गया है.

पदाधिकारी ने लिखा है कि राज्य के कुल 33 लैंप्स के माध्यम से 1.70 लाख क्विंटल धान खरीदा गया था. वहीं 18.40 करोड़ के बदले 11.85 करोड़ रु ही किसानों को भुगतान के लिए मिला है.

अत: शेष राशि 6.54 लाख तुरंत उपलब्ध कराया जाये. यह भी कहा गया है कि लैंप्स के पास धान को चावल मिल में भेजने के लिए पैसे नहीं हैं. पहले इसके लिए सिर्फ 10 लाख रु उपलब्ध कराये गये थे. कृप्या 70 लाख रु तत्काल उपलब्ध कराया जाये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *