शिक्षा व्यकित को मात्र ज्ञानवान… : सैयद अहमद

Press Release

मननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा कि शिक्षा व्यकित को मात्र ज्ञानवान, आत्मनिर्भर तथा देश का जिम्मेदार नागरिक ही नहीं बनाता, अपितु यह समाज एवं राष्ट्र के नवनिर्माण का कारक है तथा विकास का भी पहचान है। माननीय राज्यपाल महोदय आज सेक्रेड हर्ट स्कूल, हुलहुण्डू, राँची के स्वर्ण जयंती समारोह में बोल रहे थे।

माननीय राज्यपाल महोदय ने कहा कि षिक्षा बच्चों में व्याप्त क्षमता को विकसित करता है। बच्चों के मसितष्क के उचित विकास हेतु षिक्षा आवष्यक है। यह बच्चों में सही सोच विकसित करता है तथा निर्णय लेने की क्षमता भी प्रदान करता है। षिक्षा बच्चों को उनकी प्राचीन सभ्यता एवं संस्कृति से तो अवगत करता ही है, यह उन्हें बाहरी दुनिया से ज्ञान प्राप्त करने में एवं तारतम्य बनाने में भी मददगार होता है। षिक्षा के अभाव में हम अंधकार में रहते हैं, षिक्षा ही ज्ञान के दरवाजे को खोलता है। माननीय राज्यपाल ने कहा कि षिक्षा के साथ आत्म-अनुषासन भी आवष्यक है। उन्होंने कहा कि बच्चे शरारती हो, यह ठीक है लेकिन बŸामीज न हो। हालांकि शरारत की सीमा होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि विधालय प्रबंधन को भी चाहिये कि बच्चों के आधुनिक षिक्षा हेतु सभी आवष्यक व्यवस्था वे करें।

आरम्भ में विधालय की प्राचार्या ने अतिथियों का स्वागत किया तथा विधालय के गरिमामय इतिहास पर प्रकाष डाला। इस अवसर पर स्कूल के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *