राज्य मिशन प्राधिकार की पहली बैठक

Press Release

Resource Mobilization must give first priority,Resource Mobilization,Arjun Munda Jharkhand CMराज्य मिशन प्राधिकार की पहली बैठक को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा महिलाओं के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाओं पर कार्य किए जाते हैं। इन सभी के बीच एक समन्वय आवश्यक है। राष्ट्रीय महिला सशकितकरण मिशन के अन्तर्गत राज्य मिशन प्राधिकार सभी विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों को कन्सोलिडेटेड तरीके से एक साथ मानिटर करेगा। महिलाओं के लिए राज्य मे चल रही योजनाओं को ग्रास रूट लेबल तक पहुँचाना है। इस क्षेत्र में अनेक स्वयं सहायता समूह एवं कर्इ संस्थाएं कार्य कर रही हैं जिन्हें सुदृढ़ता पहुँचाना है। राज्य मिशन प्राधिकार का उदेश्य महिलाओं को समान अवसर, महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त एवं उनके खिलाफ होने वाले अत्याचारों पर रोक हेतु कार्रवार्इ है। उन्होंने विभिन्न विभागों के कार्यों के अनुश्रवण हेतु अच्छे एनालिटिकल टीम तैयार करने का निदेश दिया। राज्य मिशन प्राधिकार में वैसे सभी विभागों जिनके द्वारा महिलाओं के सशकितकरण हेतु कार्यक्रम चलाए जाते हैं उनके सचिवों को सदस्य के रूप में शामिल करने का उन्होंने निदेश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विभागों को इसके लिए प्रोत्साहित करना होगा तथा विभागवार बैठक करनी होगी। उन्होंने कहा कि इस मिशन के तहत एक जिला को पायलट जिला के रूप में तथा एक ब्लाक को पायलट ब्लाक के रूप में चिनिहत किया जाना है तथा परियोजना प्रस्ताव तैयार कर भारत सरकार को प्रेषित किया जाना है। उन्होंने सबसे पिछड़े ब्लाक के चयन को चुनौती के रूप में स्वीकार करने का निदेश दिया। विमर्श के क्रम में भण्डरिया, बन्दगाँव, पाकुडि़या इत्यादि पर विचार किया गया।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गठित राज्य मिशन प्राधिकार के सदस्य के रूप में सभी माननीय मुंत्रीगण एवं उपाध्यक्ष राज्य योजना बोर्ड तथा अध्यक्ष राज्य महिला आयोग सदस्य हैं। इस प्राधिकार में मुख्यमंत्री द्वारा मंत्री समाज कल्याण के परामर्श से नामित कोर्इ दो प्रतिषिठत व्यकित सदस्य होंगे। प्राधिकार का उदेश्य आर्थिक सशकितकरण के माध्यम से महिलाओं की स्वतंत्र पहचान बनाना, अत्याचार एवं भेदभाव विभिन्न रूपों का उन्मूलन, शिक्षा, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं तथा विभिन्न संसाधनों तक उनकी पहँुच सुनिशिचत करना एवं उनमें निर्णय क्षमता विकसित करना ताकि वे घर, समाज एवं राष्ट्र के विकास के मुख्य धारा में शामिल हो सके।

मुख्यमंत्री ने महिला सशकितकरण के लिए राज्य में चलाए जा रहे कार्यक्रमों पर आधारित एक काफी टेबुल बुक के प्रकाशन का भी निदेश दिया।
बैठक में उप मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन एवं श्री सुदेश महतो, मंत्री समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास श्रीमी बिमला प्रधान, मुख्य सचिव श्री एस0के0चौधरी, प्रधान सचिव वित्त श्री सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डा0 डी0के0तिवारी, प्रधान सचिव ऊर्जा श्री बिमल कीर्ती सिंह, प्रधान सचिव समाज कल्याण श्रीमती मृदुला सिन्हा समेत वरीय पदाधिकारीगण उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *