मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि भारतीय सिनेमा ..

Press Release

 मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि भारतीय सिनेमा के मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष को अविस्मरणीय बनाने के उद्देष्य से आगामी 12 सितम्बर, 2012 से आयोजित ‘‘सुहाना सफर- राँची फिल्म फेस्टिवल’’ में सबों की सहभागिता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतीय सिनेमा के 100 वर्षों के इस उपलक्ष्य को पूरा देष उत्सव के रूप में मना रहा है अतएव झारखण्ड राज्य में इस आयोजन की भव्यता होनी चाहिए। मुख्यमंत्री आज सांय अपने आवासीय कार्यालय में राज्य फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों एवं सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के पदाधिकारियों के साथ फिल्म फेस्टिवल की तैयारियों का जायजा ले रहे थे।

उन्होंने कहा कि स्थानीय भाषाओं में बनने वाली फिल्मों का संरक्षण एवं संवर्धन आवष्यक है। सिनेमा को सर्वाधिक सषक्त जनसंचार के माध्यम की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि झारखण्ड में सिनेमा उद्योग के विकास एवं सिनेमा के माध्यम से स्थानीय विषिष्ट संस्कृति के विस्तार हेतु शीघ्र फिल्म-नीति का प्रारूप गठित करें। उन्होंने कहा कि राज्य की प्रस्तावित फिल्म नीति के निर्माण में स्थानीय फिल्म विधा से जुड़े सभी लोगों की राय लेने को कहा। राज्य में सिनेमा माध्यम को बढ़ावा देने के उद्देष्य से उन्होंने राज्य फिल्म विकास निगम के गठन का प्रस्ताव देने का निदेष भी संबंधित पदाधिकारियों को दिया। इससे राज्य में एक स्वस्थ्य एवं सूरूचिपूर्ण मनोरंजन के वास्ते समृद्ध सिने-संस्कृति के विकास हेतु वृहत्तर मंच मिलेगा। साथ ही इससे फिल्म विधा सहित अन्य कला विधाओं से जुड़े राज्य के युवाओं को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे एवं उनकी कला को गुणात्मक अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने स्थानीय भाषाओं की फिल्मों की शुटिंग, डबिंग सहित अन्य तकनीकी पहलूओं के लिए स्थानीय तौर पर इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित किए जाने की जरूरत पर बल देते हुए संबंधित पदाधिकारियों से कहा कि वे फिल्मसिटी विकसित किए जाने हेतु राँची-पतरातू मार्ग पर जगह चिन्हित कर शीघ्र प्रस्ताव दें। उन्होंने कहा कि 12 से 15 सितम्बर तक आयोजित फिल्म फेस्टिवल की सारी तैयारियाँ समयपूर्व पूरी कर ली जाएँ साथ ही आयोजन की सफलता में फिल्म विधा से जुड़े राज्य के सभी लोगों की सक्रिय सहभागिता सुनिष्चित करें।
इस अवसर पर सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग, श्री एम0आर0मीणा ने मुख्यमंत्री एवं स्थानीय फिल्मकारों को आयोजन के विभिन्न पहलूओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस फिल्म फेस्टिबल में बच्चों की फिल्मों सहित स्थानीय नागपुरी, संताली एवं खोरठा की फिल्में भी प्रदर्षित होनी हैं।
इस अवसर पर अपर सचिव, श्री राजीव लोचन बक्षी, निदेषक, श्री आलोक कुमार, फिल्मकार श्रीप्रकाष, अनिल सिकदर, दषरथ हांसदा, सेराल मुर्मू, प्रबल महतो, तेज मुण्डु, युगल किषोर मिश्रा, के0के0 दुबे, सुषील अंकन, रमेष हांसदा, अमिताभ घोष सहित फिल्म विधा से जुडे़ कई लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *