धरोहर को संरक्षित एवं संवर्धित किया जाना आवश्यक है

Press Release

मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि भारतीय वाड़मय मानवता की धरोहर है। इस धरोहर को संरक्षित एवं संवर्धित किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कतिपय वैज्ञानिक शोधों का संदर्भ देते हुए कहा कि संस्Ñत को संचार हेतु सर्वथा वैज्ञानिक दृषिट से उपयुक्त पाया गया है। भारतीय मनीषियों का दर्शन एवं सृजन संपूर्ण मानवता की थाती हैं। राज्य सरकार सभी भाषाओं के संरक्षण एवं सर्वद्धन हेतु प्रतिबद्ध है। वे आज अपने आवासीय कार्यालय में पुणे से पंडित मोरेश्वर विनायक जी के नेतृत्व में आए शिष्टमंडल से वार्ता कर रहे थे। यह एक अनौपचारिक मुलाकात थी।

शिष्टमंडल ने राज्य में संस्Ñत के पठन-पाठन एवं शोध कार्यों की सिथति की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आÑष्ट कराया। मुख्यमंत्री ने शिष्टमंडल की बातों को गंभीरता से लेते हुए सम्यक विचारोपरांत कार्रवार्इ किए जाने का आश्वासन दिया। शिष्टमंडल में मिथिलेश पाण्डेय, डा0 सत्य प्रकाश मिश्र, श्री आनन्दमोहन तिवारी समेत कर्इ लोग शामिल थे।
……………………………………………………………………………………………………….

राँची, 3 दिसम्बर, 2012- मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने आज स्थानीय अलबर्ट एक्का चौक पर अवसिथत परमबीर लायंस नायक अलबर्ट एक्का के शहादत दिवस पर उनकी प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किया।
…………………………………………………………………………………………………………
राँची, 3 दिसम्बर, 2012- मुख्यमंत्री श्री अजर्ुन मुण्डा ने आज स्थानीय डोरण्डा के राजेन्द्र चौक पर भारत के प्रथम राष्ट्रपति डा0 राजेन्द्र प्रसाद की जयंती के अवसर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *