जीवंत समाज में संवैधानिक अधिकारों के प्रति जागृति होनी चाहिए

Press Release

मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि जीवंत समाज में संवैधानिक अधिकारों के प्रति जागृति होनी चाहिए ण्बदलती वैश्विक अर्थव्यवस्था में आर्थिक चुनौतियों के साथ भाषिक चुनौतिओं का भी ध्यान रखा जाना जरुरी हैण्आर्थिक नीतियों में बदलाव के साथ अपनी भाषा के साथ वैश्विक बाज़ार में स्थापित होना आवश्यक हैण्अपनी भाषा.संस्कृति के संरक्षण.संवर्धन के साथ साथ हम विकास के पथ पर चलें इसी में कामयाबी हैण्समाज के प्रबुद्ध वर्ग की यह नैतिक जिम्मेवारी बनाती है कि समाज की कुरीतियों और विसंगतियों के प्रति समाज को जागरूक करें ताकि हमारी आनेवाली पीढ़ी आगे से ही जागरूक रहेण्मुख्यमंत्री आज स्थानीय हेसाग स्थित सर्कस मैदान में मुण्डा सभा द्वारा आयोजित मिलन समारोह ;जमन.जारू.जोम नू.2012द्ध को संबोधित कर रहे थेण्उन्होंने इस अवसर पर नवीन मुंडू द्वारा लिखितश्मुंडा इतुन सुथिश् एवं दूसरी पुस्तकश्मुंडा समाज एवं संस्कृतिश् का विमोचन भी कियाण्

उन्होंने कहा कि सरकार ने जनजातीय भाषाओँ के शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की हैण्इसके अलावे जनजातीय सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना के लिये भी सरकार प्रयासरत हैण्उन्होंने कहा कि मुण्डा समाज का समृद्ध इतिहास रहा हैण्इससे प्रेरणा लेते हुए इस जीवंत समाज को मिल बैठ कर अपनी खूबियों और खामियों के विषय में चिंतन करना चाहिएण्उन्होंने नशे के प्रयोग के प्रचलन और अवैध मानव.व्यापार से उपज रही विसंगतियों को रेखांकित करते हुए कहा कि समाज यह सोंचे कि किस प्रकार से इससे निजात पायी जायण्

आदिवासी कल्याण मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने भगवान बिरसा मुण्डाएसिद्धू.कान्हूएकोल विद्रोह के योगदान को रेखांकित करते हुए कहा कि अपने अधिकारों के विषय में जानना.समझना सबसे जरुरी हैण्विधायक श्री पौलुस सुरीन ने झारखण्ड के निर्माण में मुण्डा समाज की भूमिका को रेखांकित कियाण् विशप विनय कंडुलना ने कहा कि शिक्षा की कमी किसी भी समाज को कमजोर बनाती है वहीँ राँची के उप महापौर श्री अजयनाथ शाहदेव ने कहा कि सबको मिलकर राज्य का विकास करना हैण्
कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री नवीन मुंडू ने कीण्कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन डाण् वीरेन्द्र कुमार सोय ने किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *