गाँवों की प्रगति, व्यकित-परिवार की सम्पन्नता पर ही राज्य का विकास निर्भर है : मुख्यमंत्री

Press Release

राँची, दिनांक-17 अगस्त, 2012

गाँवों की प्रगति, व्यकित-परिवार की सम्पन्नता पर ही राज्य का विकास निर्भर है। आर्थिक विकास का आधार सड़क है। यह मात्र आवागमन की सुविधा नहीं अपितु व्यापार वाणिज्य को बढ़ावा देने का माध्यम है।

मुख्यमंत्री ने उपरोक्त बातें आज हाता-स्वासपुर-मुसाबनी पथ जिसकी कुल लम्बार्इ 44.3 कि0मी0 है के चौड़ीकरण एवं पुर्ननिर्माण के शिलान्यास के अवसर पर आम लोगों को आनलाइन सम्बोधित करते हुए कहा। उन्होंने सड़क को इकोनोमिक कौरिडोर के रूप विकसित करने पर बल देते हुए कहा कि इस पथ के निर्माण से क्षेत्र की सामाजिक, औधोगिक एवं आर्थिक विकास का मार्ग प्रषस्त होगा। यह सड़क राज्य को पड़ोसी राज्य उड़ीसा से जोड़ने का कार्य करेगा। इस पथ को जमषेदपुर शहर के बार्इपास के रूप में उपयोग किया जा सकेगा जिससे आवागमन बेहतर होगा और यह राष्ट्रीय उच्च पथ से जुड़ सकेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की सारी सड़कों के मजबूतीकरण की योजना है, जिसे क्रमबद्ध तरीके से पूरा किया जाना है। सड़कों का एक पूरा नेटवर्क तैयार किया जाएगा। सरकार पथों के तात्कालिक एवं दीर्घकालीक विकास हेतु Ñत संकल्प है। इस पथ की वर्तमान चौड़ार्इ मात्र तीन मीटर है जिससे चौड़ीÑत कर सात मीटर का बनाया जाएगा। अर्थात सिंगल लार्इन सड़क को डबल लार्इन का तैयार किया जाएगा। भविष्य की संभावना को देखते हुए सड़क का चौड़ीकरण किया जाएगा। पथ में कुल 108 अदद पुलिया तथा 3 अदद पुलों का भी निर्माण किया जाएगा। जनवरी, 2014 तक सड़क निर्माण कार्य पूर्ण करने की योजना है। उन्होंने समयबद्ध तरीके से काम करते हुए सड़क निर्माण कार्य को गुणवत्तापूर्ण तरीके से निर्धारित समय सीमा के भीतर पूर्ण किए जाने का विष्वास दिलाया। उन्होंने कहा सड़क का लाभ सीधे-सीधे आम जनता को मिलता है, इसलिए लोगों से अपील है कि वे सड़क निर्माण कार्य में बढ़-चढ़ कर सहयोग दें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज विष्व आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है, परन्तु हमें आर्थिक विकास की सोंचनी है, जिसमें सड़क की महत्वपूर्ण भूमिका है। सड़क के विकास के साथ ही सही मायने में राज्य का विकास एवं देष का विकास संभव होगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था स्थापित हो चुकी है। स्थानीय विकास में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि जिला परिषद एवं पंचायती राज संस्थाओं के सदस्यों का यह दायित्व बनता है कि वे स्थानीय स्तर पर हो रहे कार्योें की मानिटरिंग करें। विकास हेतु सड़क के साथ षिक्षा, स्वास्थ्य एवं Ñषि की महत्वपूर्ण भूमिका है। कोर्इ भी बच्चा अषिक्षित न रहे इस पर विषेष ध्यान देना है। बिजली की सिथति में भी जिला परिषद एवं पंचायत की अहम भूमिका है। हर गाँव तक बिजली पहुँचे इसका प्रयास किया जा रहा है, परन्तु यह सुविधा सतत बनी रहे इसके लिए स्थानीय लोंगों को जागरूक होना होगा।
इस अवसर पर कार्यक्रम स्थल हाता चौक पर जमषेदपुर के सांसद, डा0 अजय कुमार ने षिलान्यास के अवसर पर लोंगों को बधार्इ देते हुए कहा कि इस सड़क के निर्माण से आस-पास के गाँवों का विकास होगा। उन्होंने कहा कि ससमय सड़क पूर्ण किए जाएंगे ताकि शीघ्र से शीघ्र लोंगों को लाभ पहुँचे। पोटका एवं घाटषीला विधान सभा क्षेत्र के विधायकों श्रीमती मेनका सरदार एवं श्री रामदास सोरेन ने भी सभा को सम्बोधित किया।

मुख्यमंत्री आवास पर कार्यक्रम में प्रधान सचिव पथ श्रीमती राजबाला वर्मा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव, डा0 डी0के0 तिवारी तथा अभियंता प्रमुख श्री राम नरेष राम एवं हाता कार्यक्रम स्थल पर उपायुक्त जमषेदपुर, श्रीमती हिमानी पाण्डेय तथा अन्य स्थानीय पदाधिकारीगण उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *