आर्थिक-सामाजिक मामलों में गैप हो : मुख्यमंत्री

Press Release

अल्पसंख्यक कल्याण के मामलों में पूरी तत्परता बरते जाने पर बल देते हुए मुख्यमंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि जहाँ भी आर्थिक-सामाजिक मामलों में गैप हो उनका सर्वेक्षण एवं उनकी पहचान कर निर्धारित समय में ही कार्रवार्इ की जानी चाहिए। मुख्यमंत्री आज प्रोजेक्ट भवन सिथत सभा कक्ष में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री हाजी हुसैन अन्सारी के साथ अल्पसंख्यक कल्याण मामलों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक कल्याण की सभी योजनाओं को एकीÑत रूप क्रियानिवत करने की आवष्यकता है, ताकि व्यापक रूप में इनका लाभ लक्षित समुदायों को मिल सके। समानता और सामाजिक बराबरी के हित में शैक्षिक विकास पर विषेष ध्यान दिया जाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना का निर्धारण करने के पूर्व उनकी उपयोगिता उनसे लाभांवित होने वाले लोग, कार्य प्रारूप एवं परिणाम सभी का डोक्यूमेंटेषन करते हुए स्पष्ट ब्लू प्रिन्ट तैयार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कर्इ विभाग ऐसी योजनाओं पर कार्य करते हैं, जो एक दुसरे से मिलते जुलते होते हैं। ऐसे विभागों की एक साथ बैठक आयोजित करें ताकि गैप का पता चले और लक्षित समुदाय प्रभावी तरीके से लाभानिवत हो सके। आगामी 5 वर्षों की कार्य योजना के आधार पर योजनाएं निर्धारित होनी चाहिए।

डोक्यूमेंटेषन, गैप, लक्ष्य, संसाधन सभी का ध्यान रखते हुए संतुलित बचत का निर्माण किया जाना चाहिए। सफलता पूर्वक कार्य करने हेतु रोड मैप भी स्पष्ट होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर वर्ष अपनी प्राथमिकता नही बदलें। पर्सपेकिटव प्लान के माध्यम से परिणाम तक पहुँचें।

एम0एस0डी0पी0 के तहत चयनित जिलों में अल्पसंख्यकों के कल्याणार्थ चलाए जा रहे कार्यक्रमों के संबंध में उन्होने कहा कि हमें आधारभूत संरचणा के विकास के साथ ही दक्ष मानव संसाधन का विकास करना है। विकास के क्रम षिक्षा का अत्यधिक महत्व है। अतएव आर्इ0टी0आर्इ0 एवं पालीेटेकिनक संस्थान अधिक से अधिक खोले जाने की जरूरत है, ताकि कौषल विकास एवं रोजगार के माध्यम से राज्य के विकास को दिषा मिले।

बैठक में उन्होंने हज कमिटि, वक्फ बोर्ड के कार्यों की जानकारी लेते हुए कहा कि यदि पदों का सृजन हो चुका है तो उन्हें शीघ्र भरने की कार्रवार्इ करें। ऊदर्ू षिक्षकों की आवष्यकता को रेखांकित करते हुए उन्होंने राज्य के विधालयों में ऊदर्ू षिक्षकों की नियुकित शीघ्र करने का निदेष दिया। बैठक में मानव संसाधन विकास विभाग के द्वारा जानकारी दी गर्इ कि षिक्षक पात्रता परीक्षा के माध्यम से इस संबंध में कार्रवार्इ शुरू कर दी गर्इ है।

बैठक में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री हाजी हुसैन अन्सारी ने कहा कि अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा समेकित रूप से योजना निर्धारण करने का प्रयास किया जा रहा है। प्रयास है कि अल्पसंख्यक कल्याण हेतु कार्य कर रहे विभिन्न विभागों के कार्यों के बीच समन्वयन सुनिषिचत किया जाए।

बैठक में मुख्य सचिव श्री एस0के0चौधरी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डा0 डी0के0तिवारी, प्रधान सचिव श्री एस0एन0पाण्डेय, प्रधान सचिव कल्याण विभाग श्री एल0ख्यांगते, सचिव योजना एवं विकास विभाग श्री अविनाष कुमार, श्रीमती ममता, निदेषक माध्यमिक षिक्षा समेत अनेक वरीय पदाधिकरीगण उपसिथत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *